dimagi paheliyan with answer : दिमागी पहेलियाँ हिंदी में उत्तर सहित

dimagi paheliyan: दोस्तों आज हम आप के लिए लेकर आये हैं. कुछ बेहेतरीन दिमागी पहेलियाँ. जासूसी पहेलियाँ जो आपको सोचने में मजबूर कर देगी. कि इसका जवाब क्या है ?

अगर आप अपने दिमाग की एनर्जी को बूस्ट करना चाहते हैं. तो आप इन पहेलियों के माध्यम से कर सकतें हैं. यह छोटी-छोटी पहेलियों के सवाल पढ़ने या सुनने में तो कुछ कठिन सा लगता हैं. मगर उनका उत्तर उतना ही सरल होता है.

आप इन पहेलियों को दो से तीन बार पढ़िए इन्हीं में सारा जवाब छिपा रहता है.

कोशिश करे तो बिलकुल ही इन पहेलियों का जवाब आप आसानी से ढूढ़ सकते हैं.

तो चलिए ऐसे ही कुछ पहेलियों की ओर.

 दिमागी पहेलियाँ : dimagi paheliyan with answer

1. रमेश नाम का एक लड़का कुछ सामान खरीदने के लिए बाज़ार जा रहा था. तभी जाते हुए उसने देखा कि कपड़ों की एक सेल लगी हुई है. जो हरे एक कपड़े को पचास-पचास रूपये में बेच रहा था. उसने तीन कपड़े लेने की सोची ? मगर उसके पास सिर्फ 100 रूपये ही थे. अब आप ये बताओ की रमेश सिर्फ सौ रूपये में तीन कपड़े कैसे ले सकता है ?

उत्तर:- वह व्यक्ति सिर्फ हरे रंग के कपड़े को ही पचास रूपये में बेच रहा था. इसलिए रमेश ने हरे रंग के कपड़े को एक. और बांकी कम वाले जो पच्चीस रूपये में बिक रहा था. उसे दो ख़रीदा. इस तरह से 100 रूपये में रमेश ने तीन कपड़े खरीद लिया.


2. राहुल जब स्कूल में अपना बैग छोड़ कर लंच के लिए कैंटीन गया हुआ था. तब किसी ने उसके बैग से नास्ते की टिफिन चुरा लिया. राहुल इसकी शिकायत अपने टीचर से करता है. और जब टीचर पूछता है कि. राहुल के बैग से नास्ते का टिफिन किसने लिया है. सभी बच्चे कहते हैं कि हम नहीं जानते. क्योंकि उस समय सभी बच्चे नास्ते के लिए कैंटीन गए हुए थे. तो अब आप ये बताईये कि उसके बैग से टिफिन किसने चुराया होगा ?

उत्तर :- किसी ने नहीं. क्योंकि जब राहुल नास्ते के लिए कैंटीन गया था. तो टिफिन क्यों लाएगा. “


3. एक चोर था जिससे पुलिस बहुत दिनों से तालाश कर रही थी. और अंत में उसे पकड़ ही लिया गया. और जब उसे कोट में पेश किया गया. तो जज साहब ने उसकी बिना सुनवाई किये ही उसे छोड़ दिया गया क्यों ?

उत्तर:- क्योंकि वह एक दिमागी तौर से ठीक नहीं था. जिससे कोट ने उसे हॉस्पिटल ले जाने की मंजूरी दी गई.


4. एक बार राहुल की मम्मी बोली कि बेटा आज मेरा करवा चौथ का व्रत है. आज घर में कुछ बना नहीं है. इसलिए तुम बाहर जाकर कुछ खा आओं. राहुल और उसके दोस्त रिंकू दोनों बाज़ार चले जाते हैं. और अपने लिए एक दर्जन केला खरीद लेते हैं. कुछ समय में दोनों बाज़ार से लौट आते हैं. और वे दोनों केले को खाने के लिए दो बराबर हिस्सों में बांटने लगे. ठीक उसी समय उसके घर पर उसके मामा-मामी और उसके नाना आ गए. उन्होंने उनको भी एक-एक केला दे दिया. मगर राहुल और रिंकू तो बराबर ही केले खाना चाहते थे. उनके पास सिर्फ नौ ही केले बचे हैं. अब आप ये बताईये कि. राहुल और रिंकू बिना टुकड़े किये बराबर हिस्सों में केला कैसे खा सकते हैं ?

उत्तर:- राहुल और रिंकू के पास सिर्फ नौ केले ही बचे थे. मगर उस दिन करवा चौथ का व्रत है तो. जाहिर सी बात है की राहुल की मामी भी उपवास की होगी जिससे वह केला न खाकर वापिस अपने भांजे यानी राहुल को देगी. जिससे उनके पास कुल 10 केले हो जाते हैं अब वे दोनों बराबर 5-5 केले खा सकते हैं.

5. रविवार के दिन ट्रैफिक ज्यादा होने से रोहन अपने घर में ही गेम खेलने का सोचा. इसलिए अपने सभी दोस्तों को अपने पास बुला लिया. और उनके साथ कुछ अंकल भी आये थे. बारिश का मौसम था. उनके गेम खेलने का मजा और बड़ गया. सभी ने एक साथ गेम खेलना शुरू किया. खेल जबरदस्त चल रहा था. तभी अचानक रोहन के लिए एक फोने आया कि. तुम्हारे पापा जब ऑफिस से आ रहे थे तभी उनको किसी ने मार दिया. उनकी हालत गंभीर है. रोहन घबरा जाता हैं कि मेरे पापा ठीक है की नही और अपना गेम वहीं रोक देते हैं. अब आप ही बताइये की रोहन के पापा को किसने मारा और किसने फोन किया होगा.

उत्तर:- रोहन के पापा को किसी ने मारा नहीं था. आप सोच के देखिये कि रविवार के दिन कोई ऑफिस थोड़े न जा सकता है. इस गेम के ही एक सदस्य ने फोन किया था. क्योंकि यह गेम ही एक प्रैंक गेम था.


6. जब टीचर बच्चों को पढ़ा रहा था. उसके एक फ्रेंड का कॉल आया.और कहा–” अरे भाई क्या हाल है ? “

टीचर ने कहा–” ठीक है भाई ! बस कोरोना का माहौल चल रहा है. इसलिए बच्चों को ऑनलाइन पढ़ा रहा हूँ. “

उसके फ्रैंड ने कहा–” चलो ठीक है ! मैं भी अपना काम कर लेता हूँ. “

यह बात हुआ था कि अचानक आंधी तूफ़ान आई. और सभी चीजें इधर-उधर बिखरने लगी. बच्चे अपने आप को बचाने के लिए. किसी ने टेबल पकड़ी तो किसी ने कुछ और. मगर टीचर अपने आप को बचाने के लिए वहां से टस न मस नहीं हुआ क्यों ? “

उत्तर:- ज़ाहिर सी बात है. टीचर ऑनलाइन पढ़ा रहा था. कहीं दूर अपने घर में होगा जहां अंधी तूफ़ान न आया हो. मगर बच्चे जिस जगह थे वहां आंधी तूफ़ान आई होगी.


7. रोहित के पिता को सुगर की बिमारी थी. इसलिए वह घर पर ही आराम कर रहा था. तभी उसके मोहल्ले में कुछ शोर सुनाई दिया. जब उन्होंने देखा कि. किसी कि जरुरी फाईल चोरी हो जाती है और पुलिस जब वहां आकर पूछताछ करती है. तो जिसकी फ़ाइल चोरी होती है उसे मोहल्ले के तीन व्यक्तियों पर शक होता है. एक रोहित के पापा और दुसरे अपने पड़ौसी मोहन लाल पर जो मिठाई की दुकान चलाता है. और तीसरे अपने ड्राइवर रामू पर. अब पुलिस उस फाईल वाले के घर को अच्छी तरह से छानबीन करती है. मगर उसे वहां पर मक्खी के अलावा कुछ भी नहीं मिलता है. इतने में वह समझ जाता है की चोरी किसने की है. क्या आप बता सकते हैं. की चोरी किसने की होगी ?

उत्तर:-जब पुलिस इसकी छानबीन कर रही थी. तभी उसने जहां फ़ाइल रखी थी वहां पर बहुत से मक्खी को भिनभिनाते हुए देखा था. ज्यादातर मक्खी तभी रहती है जहां कुछ मीठा गिरा हो. पहले तो रोहित के पापा सुगर से पीड़ित हैं. जो मिठाई नहीं खा सकते. और दूसरा उस फ़ाइल वाले का ड्राईवर जो हमेशा उसके साथ ही रहता हैं.और बचा वह तीसरा मिठाई वाला उसी ने फ़ाइल चोरी की होगी. जब वह फ़ाइल लेने गया होगा तभी कुछ मिठाई के टुकड़े उसके कपड़े से गिर गए होंगे.


दोस्तों मुझे उम्मीद है कि यह पोस्ट dimagi paheliyan,dimagi paheliyan with answer आपको जरुर पसंद आया होगा. अगर पसंद आया है तो कमेंट बॉक्स में अपनी राय ज़रूर दे और सोशल मीडिया जैसे facebook, twitter, whatsapp आदि पर शेयर करना न भूलें धन्यवाद.

यह भी पढ़ें

Leave a Comment